CBSE - Class 12 - समाजशास्त्र - एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर

एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for Class 12 समाजशास्त्र

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र भारतीय समाज का परिचय भारतीय समाज का परिचय. समाज के बारे में पूर्व जानकारी अथवा समाज के साथ गहरा जुड़ाव सामाजिक अध्ययन की एक शाखा समाजशास्त्रा के लिए लाभप्रद तथा अलाभप्रद दोनों ही रहे हहैं | इसका लाभ यह है की छात्र समाजशास्त्र से सामान्यतः भयभीत नहीं रहते-वे सोचते हैं की इस विषय का ज्ञान उनके लिए कठिन नहीं हो सकता |

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र भारतीय समाज की जन सांख्यिकीय संरचना भारतीय समाज की जन सांख्यिकीय संरचना. व्यक्ति शांति तथा  के साथ समाज में रहने की सीख लेता है; जैसे-सहयोग, मिल-जुलकर रहना, चिंतन-मनन करना इत्यादि। आकारिक जनसांख्यिकी के अंतर्गत सांख्यिकी, संख्या, एकत्रीकरण तथा ऑकडीं का स्मरणीय परिमाणीकरण शामिल होते हैं।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र सामाजिक संस्थाएँ निरंतरता और परिवर्तन सामाजिक संस्थाएँ निरंतरता और परिवर्तन. जनसंख्या सिर्फ अलग-अलग असंबधित व्यक्तियों का जमघट नहीं है परन्तु यह विभिन्न प्रकार के तथा आपस में संबधित वर्गों व समुदाय से बना समाज है। भारतीय समाज की तीन प्रमुख संस्थाएँ- जाति, जनजाति, परिवार

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र बाज़ार सामाजिक संस्था के रूप में बाज़ार सामाजिक संस्था के रूप में. बाजार - एक ऐसा स्थान जहां पर वस्तुओं का क्रय विक्रय होता है। जैसे साप्ताहिक सब्जी बाजार आदि। एडम स्मिथ के अनुसार - पूजी वादी अर्थव्यवस्था, स्वयं लाभ से स्वचालित है और यह तब सबसे अच्छे से कार्य करती है, जब हर व्यक्ति खरीददार व विक्रेता तक संगत निर्णय लेते हैं जो उनके हित मे होते है। स्मिथ ने खुले व्यापार का समर्थन किया।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र सामाजिक असमानता और बहिष्कार के स्वरूप सामाजिक असमानता और बहिष्कार के स्वरूप. सामाजिक विषमता – सामाजिक संसाधनों तक असमान पहुँच की पद्धति सामाजिक किषमता कहलाती है। सामाजिक स्तरीकरण - वह व्यवस्था जो एक समाज में लोगों का वर्गीकरण करते हुए एक अधिक क्रमित संरचना में उन्हें श्रेणीबद्ध करती है सामाजिक स्तरीकरण कहलाती है।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र सांस्कृतिक विविधता की चुनौतियाँ सांस्कृतिक विविधता की चुनौतियाँ. सांस्कृतिक विविधता - भारत में अनेक प्रकार के सामाजिक समूह व समुदाय निवास करते है। जिनकी भाषा, धर्म, पंथ, जाति, प्रजाति अलग-अलग है। इसे ही सांस्कृतिक विविधता कहा जाता है। सांस्कृतिक विविधता के कारण हमारे सामने बड़ी-बड़ी चुनौतिया है जैसे क्षेत्रवाद, सांप्रदायिकता व जातीयता।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र संरचनात्मक परिवर्तन संरचनात्मक परिवर्तन. भारत मे आधुनिक विचार एवं संस्थाए औपनिवेशिक काल की देन है, हमारे देश की संसदीय, विधि एवं शिक्षा व्यवस्था ब्रिटिश प्रारूप व प्रतिमानों पर आधारित है। उपनिवेशवाद ने राजनीतिक, आर्थिक एवं सामाजिक संरचना में नवीन परिवर्तन किए परन्तु मुख्य संरचनात्मक परिवर्तन - औद्योगिकरण व नगरीकरण है।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र सांस्कृतिक परिवर्तन सांस्कृतिक परिवर्तन को चार प्रक्रियों के रूप मे देखा जा सकता है-संस्कृतिकरण, आधुनिकीकरण, (लोकिकीकरण अथवा निरपेक्षीकरण) पश्चिमीकरण संस्कृतिकरण की प्रक्रिया उपनिवेशवाद से पहले भी थी लेकिन बाकी की तीन प्रक्रियाएं उपनिवेशवाद के बाद की देन है।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र भारतीय लोकतंत्र की कहानियाँ भारतीय लोकतंत्र की कहानियाँ. अंग्रेजों ने अपनी सुविधा व प्रशासन के लिए पाश्चात्य शिक्षा देकर एक मध्य वर्ग बनया। इन्होने सामाजिक न्याय तथा राष्ट्रवाद का सहारा औपनिवेशिक शासनको चुनौति देने के लिए लिया।के कराची अधिवेशन मे भारतीय संविधान के लिए चर्चा की गई तथा सभी नागरिकों के लिए आर्थिक तथा सामाजिक न्याय पर विचार किया। इन्हे आजादी के बाद भारत में लागू किया गया।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र ग्रामीण समाज में विकास और परिवर्तन ग्रामीण समाज में विकास और परिवर्तन भारतीय समाज प्राथमिक रूप से ग्रामिण समाज है। 2011 की जनगणना के अनुसार 60x लोग गाँव में रहते है। उनका जीवन कृषि तथा उनके संबंधित व्यवसाय पर चलता है तथा भूमि उत्पाद एक महत्त्वपूर्ण साधन है। भारत के विभिन्न भागों के त्यौहार पोंगल (तमिलनाडु), बैसाखी (पंजाब), ओणम (केरल), हरियाली तीज ( हरियाणा), बीहू (असम) तथा ऊगाडी (कर्नाटक) मुख्य रूप से फसल काटने के समय मनाए जाते है।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र औद्योगिक समाज में परिवर्तन और विकास औद्योगिक समाज में परिवर्तन और विकास शेहरो में कई वर्ग होते हैं. आभिजात्य वर्ग, उच्च वर्ग, उच्च-मध्यम वर्ग,मध्यम वर्ग, निम्न मध्यम वर्ग तथा गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों का वर्ग.यद्यपि इस तरह के सभी वर्ग समान आधारभूत सुविधाओं का प्रयोग करते हैं

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र भूमंडलीकरण और सामाजिक परिवर्तन भूमंडलीकरण और सामाजिक परिवर्तन. सामाजिक परिवर्तन का केन्द्रीय बिन्दु है। यह आम लोगों के जीवन को प्रभावित का रहा है। मध्यम वर्ग के लिए रोजगार, खुदरा व्यापार बहुराष्ट्रीय कपनियों द्वारा शुरू करना, बड़े विक्री भंडार, युवाओं के लिए समय बिताने की विधियों तथा अन्य क्षेत्र प्रदान कर रहा है। इससे हमारा सामाजिक व सांस्कृतिक जीवन बदल रहा है। चीन तथा कोरिया से रेशम धागों का आयात करने से बिहार के कामगारों पर प्रभाव, बड़े जहाजों द्वारा मछली पकड़ने के कारण भारतीय मछुआरों पर कुप्रभाव, सूडान से गोंद आने पर गुजरात की औरतो के रोजगार में कमी आ रही है।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र जनसंपर्क साधन और संचार जनसंपर्क साधन और संचार. मास मिडिया यानि जन संपर्क के साधन टेलीविजन, समाचार पत्र, फिल्में, रेडियों, विज्ञापन, सी. डी. आदि। ये बहुत बड़ी जनसंख्या को प्रभावित करते है। समाज पर इसके प्रभाव दूरी गामी है। इसमें विशाल पूँजी, संगठन तथा औपचारिक प्रबन्धन की आवश्कता है।

Download एनसीईआरटी प्रश्न-उत्तर for CBSE Class 12 समाजशास्त्र सामाजिक आन्दोलन सामाजिक आन्दोलन-ये विश्व को एक आकार देते है। 19वीं सदी में कुछ सुधार आन्दोलन हुए जैसे-जाति व्यवस्था के विरूद्ध, लिंग आधारित, भेदभाव के विरूद्ध, राष्ट्रीय आज़ादी की आन्दोलन।



CBSE Study App

  • Install myCBSEguide mobile app for FREE sample papers, Test Papers, Revision Notes, Previous year question papers, NCERT solutions and MCQ tests
  • Refer myCBSEguide App to your friends and Earn upto Rs.500/-.

myCBSEguide App

Create Question Papers

  • We have 3,00,000+ questions to choose from.
  • You can print these questions papers with your own Name and Logo.

This product is best fit for schools, coaching institutes, tutors, teachers and parents who wish to create most relevant question papers as per CBSE syllabus for their students to practice and excel in exams. Creating question papers online with your own name and logo takes less than 2 minutes. Just follow few steps, customise header and footer and download the question paper in PDF format. 

Download eBooks as PDF

  • Select eBook
  • Pay online
  • Download as PDF

Download CBSE sample papers, test papers and worksheets as PDF. Buy chapter wise online MCQ tests for day to day practice.

Work from Home

  • Work from home with us
  • Create questions or review them from home

No software required, no contract to sign. Simply apply as teacher, take eligibility test and start working with us. Required desktop or laptop with internet connection