No products in the cart.

Ask questions which are clear, concise and easy to understand.

Ask Question
  • 0 answers
  • 1 answers

Md Zaid Ali 2 days, 15 hours ago

Shabdon ke saarthak(matlab jiska arth nikalta hai) aur krambadh (matlab arranged)samuh ko vakya kehte h
  • 0 answers
  • 0 answers
  • 0 answers
  • 0 answers
01
  • 0 answers
  • 1 answers

Sameer Kumar 1 week, 6 days ago

सरल वाक्य (simple sentence) – सरल वाक्य एक कर्ता तथा एक क्रिया के मेल से बनता है। इसमें कोई उपवाक्य जुड़ा नहीं होता है। जैसे- कछुए ने खरगोश को हरा दिया। नौकर ने समय पर काम पूरा कर लिया। ड्राइवर समय से बस लेकर नहीं आया। पक्षी शाम होते ही घोंसले की ओर लौट आते हैं। संयुक्त वाक्य (compound sentence) – जब दो या दो से अधिक स्वतंत्र उपवाक्य किसी योजक (समुच्चयबोधक अव्यय) द्वारा जुड़े होते हैं तो वे संयुक्त वाक्य कहलाते हैं। (clauses connected by the conjunctions – and, but, either…. or, neither… nor, both…. and – form a compound sentence.) संयुक्त वाक्य की विशेषताएँ – संयुक्त वाक्य के उपवाक्य आपस में योजकों- या, वा, अथवा, इसलिए, और, किंतु, परंतु, लेकिन, तथा, एवं आदि से जुड़े होते हैं। संयुक्त वाक्य के कुछ उदाहरण आप नाटक देखने जाएँगे या सिनेमा। मरीज फल खा लेगा अथवा खिचड़ी से काम चलेगा। मदन को बस नहीं मिली इसलिए वह समय पर घर न आ सका। हम दोनों मंदिर गए और साथ-साथ पूजा की। बादल घिरे किंतु बरसात न हुई। वह दिन भर काम करता रहा परंतु पूरा न हो सका। बाज़ार से कलम लाना तथा पेंसिल अवश्य लाना। उसने मेट्रो की सवारी की एवं ए०सी० का आनंद लिया। मिश्रवाक्य (complex or compound sentence) – जिस वाक्य में एक से अधिक उपवाक्य जुड़े हो, परंतु उनमें एक प्रधान उपवाक्य हो तथा दूसरा आश्रित उपवाक्य हो, उसे मिश्रवाक्य कहते हैं। मिश्रवाक्य में आश्रित या गौण उपवाक्य प्रधान उपवाक्य पर निर्भर होते हैं। मिश्रवाक्य व्यधिकरण योजकों के युग्म-जैसा-वैसा, जो-सो, जिसकी-उसकी, जहाँ-वहाँ, जब-तब, जैसी-वैसी, यदि-तो, – जब तक-तब तक, जिन्हें-उन्हें आदि से जुड़े होते हैं। स्वतंत्र उपवाक्य को प्रधान उपवाक्य भी कहा जाता है। मिश्रवाक्य के कुछ उदाहरण माँ ने कहा कि शाम को जल्दी लौट आना। जब मैं घर पहुँचा तब वर्षा शुरू हो चुकी थी। जैसे ही बादल घिरे वैसे ही बिजली चमकने लगी। जब-जब धरती पर अधर्म बढ़ा है, तब-तब ईश्वर धरती पर अवतरित हुए हैं। जहाँ-जहाँ सिंचाई की व्यवस्था है, वहाँ-वहाँ फसलें खूब पैदा होती हैं।
  • 1 answers

Sameer Kumar 1 week, 6 days ago

प्रश्न क्या है ?
  • 1 answers

Shivam Gupta 1 week ago

Can you take my online I am explain Easily to you .
  • 1 answers

Krishna Yadav 2 weeks, 3 days ago

Yes
  • 1 answers

#Mr Deepak Babu 2 weeks, 6 days ago

Hashe
  • 3 answers

Rahul Choudhary 2 weeks, 6 days ago

Bhando ki ratri ka varnan Apne shabdon mein likha hai

Mayank Dalal 1 week, 4 days ago

This content has been hidden. One or more users have flagged this content as inappropriate. Once content is flagged, it is hidden from users and is reviewed by myCBSEguide team against our Community Guidelines. If content is found in violation, the user posting this content will be banned for 30 days from using Homework help section. Suspended users will receive error while adding question or answer. Question comments have also been disabled. Read community guidelines at https://mycbseguide.com/community-guidelines.html

Few rules to keep homework help section safe, clean and informative.
  • Don't post personal information, mobile numbers and other details.
  • Don't use this platform for chatting, social networking and making friends. This platform is meant only for asking subject specific and study related questions.
  • Be nice and polite and avoid rude and abusive language. Avoid inappropriate language and attention, vulgar terms and anything sexually suggestive. Avoid harassment and bullying.
  • Ask specific question which are clear and concise.

Remember the goal of this website is to share knowledge and learn from each other. Ask questions and help others by answering questions.

Mayank Dalal 3 weeks, 2 days ago

Ladla
  • 2 answers

Saum 12 2 weeks, 6 days ago

नवाब साहब एक दिखावटी एवं झूठी शान दिखाने वाले व्यक्ति थे । वे खीरे जैसी मामूली चीज़ को खाकर अपनी नवाबी शान को कम नहीं करना चाहते थे।

Anushka Patil 3 weeks, 4 days ago

Please send some question
  • 1 answers

Rahul Choudhary 2 weeks, 6 days ago

Kheti Barish se Jude grihsth Bal Govind Bhagat apni kin Charitra visheshtaon Ke Karan Sadhu kahlate the
  • 1 answers

Lakshay Jain 3 weeks, 4 days ago

नवाब साहब ने आम आदमियों की तरह खीरा क्यों नहीं खाया
  • 0 answers
  • 0 answers

myCBSEguide App

myCBSEguide

Trusted by 1 Crore+ Students

Question Paper Creator

  • Create papers in minutes
  • Print with your name & Logo
  • Download as PDF
  • 5 Lakhs+ Questions
  • Solutions Included
  • Based on CBSE Syllabus
  • Best fit for Schools & Tutors

Test Generator

Test Generator

Create papers at ₹10/- per paper

Download myCBSEguide App