No products in the cart.

लेखक परिचय पाठ 15 क्षितिज

CBSE, JEE, NEET, NDA

CBSE, JEE, NEET, NDA

Question Bank, Mock Tests, Exam Papers

NCERT Solutions, Sample Papers, Notes, Videos

लेखक परिचय पाठ 15 क्षितिज
  • 1 answers
Chapter 9
http://mycbseguide.com/examin8/

Related Questions

Lesson 15
  • 2 answers
Hind gramar
  • 0 answers
Bhasha kise kahate Hain
  • 1 answers
Good morning
  • 1 answers
एक जंगल मेंपरिजात का एक पेड़ था। परिजात का कोई मुकाबला नह ंथा। उसक सुंदिता बेजोड़ थ । उसका िंग-रूप ननिाला था। परिजात को भ अपनेगुणोंका पूिा-पूिा पता था। न लेआसमान मेंनसि उठाए इस शान सेखड़ा िहता, मानों पेड़ोंका सिताज हो। जब बहाि के नदन आतेतो परिजात अननगनत नन्हें-नन्हेंफू लोंसेलद जाता, लगता मानोंनकस ने आकाश सेसािेतािेतोड़कि परिजात क शाखाओंपि टााँक नदए हो। नन्हेंफू लोंसेनिलनमलाता परिजात जब सुगंध भि पिाग जंगल मेंनबखेिता तो जंगल नंदन बन जाता। चुंबक क तिह परिजात सबको अपन तिफ़ ख ंचता, नजसेदेखो, वह परिजात क तिफ़ भागता । सतिंग शालेंओढेचटक ल नततनलयााँसहेनलयोंके साथ िुंड का िुंड बनाकि परिजात का श्रंगाि देखनेआत ंतथा जाते-जातेफू लोंको ख ंचकि ढेिोंपिाग अपनेसाथ लेजात । (क)जंगल मेंनकसका पेड़ था? (ख)परिजात अपनेआप को स्वयंक्या समिता था? (ग) वह अननगनत फू लोंसेकब लद जाता था?
  • 0 answers
What is mean why
  • 3 answers
Gaoun prasashan
  • 2 answers

myCBSEguide App

myCBSEguide

Trusted by 1 Crore+ Students

Question Paper Creator

  • Create papers in minutes
  • Print with your name & Logo
  • Download as PDF
  • 5 Lakhs+ Questions
  • Solutions Included
  • Based on CBSE Syllabus
  • Best fit for Schools & Tutors

Test Generator

Test Generator

Create papers at ₹10/- per paper

Download myCBSEguide App