CBSE Sample Papers Class 10 Hindi Course-A 2019

myCBSEguide App

myCBSEguide

Trusted by 70 Lakh Students

Install App

UPES, Dehradun - Enroll Yourself for the Academic Year 2020

Apply Now


CBSE Sample Papers Class 10 Hindi Course-A 2019 The new marking scheme and blueprint for Class 10 have been released by CBSE. We are providing Hindi Course-A sample papers for Class 10 CBSE exams. Sample Papers are available for free download in myCBSEguide app and website in PDF format. CBSE Sample questions Papers Class 10 Hindi Course-A With Solutions are made available by CBSE exams are over. CBSE marking scheme and blue print is provided along with the Sample Papers. This helps students find answer the most frequently asked question, How to prepare for CBSE exams. CBSE Sample Papers of Class 10 Hindi Course-A for 2018 Download the app today to get the latest and up-to-date study material. CBSE sample paper for Class 10 Hindi Course-A with questions and answers (solution).

sample papers for class 10 Hindi-A 2019 With Solution

Download as PDF

CBSE Sample Papers Class 10 Hindi Course-A 2019

myCBSEguide provides Class 10 Sample Papers of Hindi Course-A for the year 2018, 2019, 2020 with solutions in PDF format for free download. The CBSE Sample Papers for all – NCERT books and based on CBSE latest syllabus must be downloaded and practiced by students. Class 10 Hindi Course-A New Sample Papers follow the blueprint of that year only. Student must check the latest syllabus and marking scheme. Sample paper for Class 10 Hindi Course-A and other subjects are available for download as PDF in-app too. myCBSEguide provides sample paper with solutions for the year 2018, 2019, 2020.

Sample Papers Hindi Course-A Class 10 2019

निर्धारित समय 3 घंटे
अधिकतम अंक – 80

सामान्य निर्देश: –

  1. इस प्रश्न पत्र में चार खंड है क, ख, ग और घ |
  2. चारों खंडों प्रश्नों के उत्तर देना अनिवार्य हैं |
  3. यथासंभव प्रत्येक खंड के प्रश्नों के उत्तर क्रमशः दीजिए |

खंड-क
(अपठित अंश) 

  1. निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए और पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए – (8)
    सृष्टि ने मानव को जो सर्वश्रेष्ठ वरदान दिए हैं उनमें से एक महत्वपूर्ण वरदान है – स्वस्थ शरीर | स्वस्थ शरीर से ही जिंदगी की सही शुरआत होती है | अस्वस्थ शरीर में कहाँ जीवन होता है? वह तो जीवन पर बोझ होता है | जीवन के सभी, सौंदर्य, सभी आनंद स्वस्थ होने पर ही मिलते हैं | स्वास्थ्य सभी जीवधारियों के आनंदमय जीवन की कुंजी है; क्योंकि स्वास्थ्य के बिना जीवधारियों की समस्त क्रियाएँ-प्रक्रियाएँ रुक जाति हैं या शिथिल हो जाती हैं | जीवन को जल भी इसीलिए कहा जाता है | जिस प्रकार रुका जल सड़ जाता है दुर्गंधयुक्त हो जाता है, ठीक इसी प्रकार शिथिल और कर्महीन जीवन से स्वास्थ्य खो जाता है | स्वास्थ्य और खेल-कूद का परस्पर गहरा संबंध है | पशु-पक्षी हो या मनुष्य, जो खेलता-कूदता नहीं, वह उत्फुल्ल और प्रसन्न रह नहीं सकता | जब हम खेलते हैं तो हममें नया प्राणावेग, नई स्फूर्ति और नई चेतना आ जाती है | हम देखते हैं कि हवा के झोंके एक-दुसरे का पीछा करते हुए दूर-दूर तक दौड़ते हैं, वृक्षों की शाखाओं को हिला-हिलाकर अठखेलियाँ करते हैं | आकाश में उड़ते पक्षी तरह-तरह की क्रीड़ाएँ करते हैं | हमें भी जीवन-जगत् से प्रेरणा लेटे हुए खुले मन से खेल-कूद में भाग लेना चाहिए |

    1. स्वास्थ्य और खेल-कूद परस्पर एक दुसरे के पूरक हैं – कैसे? (2)
    2. उदहारण देते हुए सिद्ध कीजिए कि प्रकृति भी खेल-कूद पसंद करती है | (2)
    3. स्वास्थ्य का कर्म से क्या संबंध है ? (2)
    4. जीवन को जल क्यों कहा गया है ? (1)
    5. उपर्युक्त गद्यांश के लिए उपयुक्त शीर्षक लिखिए | (1)
  2. निम्नलिखित काव्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए और पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए- (7)
    अपने नहीं अभाव मिटा पाया जीवन भर
    पर औरों के सभी अभाव मिटा सकता हूँ |
    तूफानों-भूचालों की भयप्रद छाया में,
    मैं ही एक अकेला हूँ जो गा सकता हूँ |
    मेरे ‘मैं’ की संज्ञा भी इतनी व्यापक है,
    इसमें मुझ-से अगणित प्राणी आ जाते हैं |
    मुझको अपने पर अदम्य विश्वास रहा हैं |
    मैं खंडहर को फिर से महल बना सकता हूँ |                                                                        जब-जब भी मैंने खंडहर आबाद किए हैं,
    प्रलय-मेघ भूचाल देख मुझकों शरमाए |
    मैं मजदूर मुझे देवों की बस्ती से क्या,
    मैंने अगणित बार धरा पर स्वर्ग बनाए |

    1. उपर्युक्त काव्य-पंक्तियों में किसका महत्त्व प्रतिपादित किए गया है | (1)
    2. स्वर्ग के प्रति मजदूर की विरक्ति का क्या कारण है ? (1)
    3. किन कठिन परिस्थितियों में भी मजदूर ने अपनी निर्भयता प्रकट की है ? (1)
    4. मेरे ‘मैं’ की संज्ञा भी इतनी व्यापक है इसमें मुझ-से अगणित प्राणी आ जाते हैं | उपर्युक्त पंक्ति का भाव स्पष्ट कीजिए | (2)
    5. अपनी शक्ति और क्षमता के प्रति मजदूर ने क्या कहकर अपना आत्म-विश्वास प्रकट किए है ? (2)

      अथवा

    हँसते खिलखिलाते रंग-बिरंगे फूल क्यारी में देखकर
    जी तृप्त हो गया |
    नथुनों से प्राणों क खिंच गई
    गंध की लकीर सी
    आँखों में हो गई रंगों की बरसात
    अनायास कह उठा
    वाह!
    धन्य है वसंत ऋतु |
    लौटने को पैर ज्यों बढ़ाये तो
    क्यारी के कोने में दुबका एक नन्हा फूल अचानक बोल पड़ा:
    सुनो
    एक छोटा-सा सत्य तुम्हें सौंपता हूँ
    धन्य है वसंत ऋतु ठीक है
    पर उसकी धन्यता उसकी कमाई नहीं
    वह हमने रची है,
    हमने
    यानी मैंने
    मुझ जैसे मेरे अनगिनत साथियों ने-
    जिन्होंने इस क्यारी में अपने-अपने ठाँव पर
    धूप और बरसात,
    जाड़ा और पाला झेल
    सूरज को तपा है पूरी आयु एक पाँव पर
    तुमने ऋतु को बखाना,
    पर क्या कभी पल भर भी
    तुम उस लौ को भी देख सके
    जिसके बल
    मैंने और इसने और उसने
    यानी मेरे एक-एक साथी ने
    मिट्टी का अँधेरा फोड़
    सूरज से आँखें मिलाई हैं?
    उसे यदि जानते तो तुमसे भी
    रंग जाती एक ऋतु |

    1. फूल ने कवि को कौन-सा छोटा-सा सौंपा? (1)
    2. वसंत की धन्यता को किसने रचा है ? (1)
    3. फूल और उसके साथियों ने मिट्टी का अँधेरा फोड़कर किससे आँखे मिलाई हैं ? (1)
    4. फूलों और उसके जैसे अनगिनत साथियों ने क्या किया है ? (2)
    5. हँसते खिलखिलाते फूलों को देख कवि को क्या अनुभव हुआ ? (2)

खंड-‘ख’
(व्यावहारिक व्याकरण)

  1. निर्देशानुसार किन्हीं तीन का उत्तर लिखिए- (3 x 5 = 15)
    1. युवा धनुर्धर को सेनापति ने युद्ध में भेजा |
      (मिश्र वाक्य में बदलिए)
    2. मैं विद्यालय पहुँचा परन्तु घंटी बज चुकी ठी|
      (सरल वाक्य में  बदलिए)
    3. जो मन लगाकर काम करते हैं, उन्हें  सफलता मिलती है |
      (आश्रित उपवाक्य छाँटकर भेद भी लिखिए)
    4. मेरी माँ चाहती हैं की मैं अच्छा इंसान बनूँ |
      (रेखांकित उपवाक्य का भेद लिखिए)
  2. निम्नलिखित वाक्यों में से किन्हीं चार वाक्यों का निर्देशानुसार वाच्य परिवर्तन कीजिए- (1 x 4 = 4)
    1. मोहन से पैदल चला नहीं जाता | (कर्तृवाच्य में बदलिए)
    2. आओ, वहाँ बैठे | (भाववाच्य में बदलिए)
    3. किसान खेतों में बीज बोता है | (कर्मवाच्य में बदलिए)
    4. छात्रों द्वारा पाठ याद किया जाता है | (कर्तृवाच्य में बदलिए)
    5. पक्षी आकाश में उड़ेंगे | (कर्मवाच्य में बदलिए)
  3. निम्नलिखित वाक्यों में से किन्हीं चार वाक्यों के रेखांकित पदों का पद-परिचय लिखिए- (1×4= 4)
    1. सूर्योदय हुआ और पक्षी चहचहाने लगे |
    2. वीर पुरुषों का सर्वत्र आदर किया जाता है |
    3. अध्यापिका ने बच्चों को एक कहानी सुनाई |
    4. अवनि कल आएगी |
    5. इलाहाबाद में तीन नदियों का संगम है |
  4. निम्नलिखित प्रश्नों में से किन्हीं चार प्रश्नों के उत्तर दीजिए-(1{tex} \times {/tex}4=4)
    1. ‘वीर’ रस का एक उदहारण लिखिए |
    2. निम्नलिखित काव्य पंक्तियों में रस पहचान कर लिखिए-
      एक ओर अजगरहि लखि, एक और मृगराय |
      विकल बटोही बीच ही परयो मुरछा खाय ||
    3. ‘निर्वेद’ किस रस का स्थायी भाव है ?
    4. करुण रस’ का स्थायी भाव क्या है ?
    5. घृणित वस्तुओं को देखकर अथवा उनके बारे में सुनकर मन में जो भाव उत्पन्न होता है, उससे किस रस की व्युत्पति होती है ?

खंड-‘ग’
(पाठ्य पुस्तक एवं पूरक पाठय पुस्तक)

  1. निम्नलिखित गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए-
    मैं नहीं जानता इस सन्यासी ने कभी सोचा था या नहीं कि उसकी मृत्यु पर कोई रोएगा लेकिन उस क्षण रोने वाली की कमी नहीं थी | (नाम आँखों को गिनना स्याही फैलाना है |) इस तरह हमारे बीच से वह चला गया जो हममें से सबसे अधिक छायादार फल-फूल गंध से भरा और सबसे अलग, सबका होकर, सबसे ऊँचाई पर, मानवीय करुणा की दिव्य चमक में लहलहाता खड़ा था | जिसकी स्मृति हम सबके मन में (जो उनके निकट थे) किसी यज्ञ की पवित्र आग की आँच की तरह आजीवन बनी रहेगी | मैं उस पवित्र ज्योति की याद में श्रद्धानत हूँ |

    1. नम आँखों को गिनना स्याही फैलाना है’ ऐसा लेखक ने क्यों कहा? (2)
    2. लेखक ने फ़ादर के लिए किन-किन विशेषणों का प्रयोग किया है और क्यों ? (2)
    3. गद्यांश में फ़ादर की स्मृति को किसके सामान बताया गया है | (1)
  2. निम्नलिखित प्रश्नों में से किन्हीं चार प्रश्नों के उत्तर संक्षेप के उत्तर संक्षेप में लिखिए- (2{tex} \times {/tex}4=8)
    1. हालदार साहब के लिए कौन-सा कौतूहल दुर्दमनीय हो उठा. जिसे पानवाले से पूछे बिना नहीं रह सके ?
    2. बालगोबिन भगत की दिनचर्या लोगों के अचरज का कारण क्यों थी ?
    3. लेखिका मन्नू भंडारी अपने ही घर में हीन भावना का शिकार क्यों हो गई ? |
    4. उस्ताद बिस्मिल्ला खां काशी छोड़कर अन्यत्र क्यों नहीं जाना चाहते थे ?
    5. नवाब साहब खीरा खाने के अपने ढंग के माध्यम से क्या दिखाना चाहते थे ?
  3. निम्नलिखित काव्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए-
    ऊधौ, तुम हौ अति बड़भागी |
    अपरस रहत सनेह तगा औं, नाहिन मन अनुरागी |
    पुरइनि पात रहत जल भीतर, ता रस देह न दागी |
    ज्यों जल माहँ तेल की गागरि, बूंद न तार्को लागी |
    प्रीती-नदी मैं पाऊँ न बोरय, दृष्टि न रूप परागी | |
    ‘सूरदास’ अबला हम भोरी, गुर चांटी ज्यौं पागी ||

    1. गोपियों ने क्या कहकर उद्धव पर व्यंग्य किया है ? (1)
    2. गोपियों ने उद्धव के व्यवहार की तुलना किस-किस से की है और क्यों ?(2)
    3. गोपियों ने अपनी तुलना गुड़ से लिपटी चीटियों से क्यों की है ? (2)
  4. निम्नलिखित प्रश्नों में से किन्हीं चार प्रश्नों के उत्तर संक्षेप में लिखिए| (2{tex} \times {/tex}4=8)
    1. ‘संगतकार’ कविता के आधार पर स्पष्ट कीजिए कि संगतकार जैसे व्यक्ति सर्वगुण सम्पन्न होकर भी समाज में आगे न आकर प्रायः पीछे ही क्यों रहते हैं ?
      धनुष भंग करने वाली सभा में एकत्रित जन हाय-हाय’ क्यों पुकारने लगे थे ?
    2. ‘राम-लक्ष्मण परशुराम संवाद’ पाठ के आधार पर अपने विचार लिखिए |
      वर्तमान संदर्भो में ‘कन्यादान’ कविता कितनी उपयुक्त है ? स्पष्ट कीजिए|
    3. सामाजिक क्रान्ति में साहित्य की भूमिका महत्वपूर्ण होती हैं | ‘उत्साह’ कविता के आधार पर इस कथन की समीक्षा कीजिए |
    4. यह ‘दंतुरित मुस्कान’ कविता में ‘बॉस और बबूल’ किसके प्रतीक बताए गए हैं ? | इन पर शिशु की मुस्कान का क्या असर होता है ?
  5. ‘माता का अंचल’ पाठ में भोलानाथ द्वारा चूहे के बिल में पानी डालना बच्चों की किस मनोवृत्ति को प्रकट करता है ? क्या यह उचित है ? पशु-पक्षियों के संरक्षण के उपाय भी बताइए | (4)

    अथवा

    समाचार-पत्रों की जन-जागरण में क्या भूमिका होती है? जॉर्ज पंचम की नाक’ पाठ के आधार पर स्पष्ट कीजिए |

खंड-‘घ’

  1. निम्नलिखित में से किसी एक विषय पर दिए गए संकेत बिन्दुओं के आधार पर लगभग 200 से 250 शब्दों में निबंध लिखिए- (10)
    1. आपदा प्रबंधन
      • प्रस्तावना
      • प्राकृतिक आपदाएँ
      • दोषी कौन
      • सरकार की जिम्मेदारी
      • नागरिकों के कर्तव्य
      • उपाय
    2. सौर ऊर्जा
      • प्रस्तावना
      • सौर ऊर्जा से तात्पर्य
      • सौर ऊर्जा का उत्पादन
      • लाभ।
      • उपसंहार
    3. अपने लिए जिए, तो क्या जिए
      • प्रस्तावना
      • मनुष्य में बढ़ती स्वार्थपरता
      • परोपकार की प्रकृति और पूर्वजों की सीख
      • मानव जीवन की सार्थकता
      • उपसंहार
  2. दूरदर्शन के महानिदेशक को पत्र लिखकर राष्ट्रीय एकता तथा साम्प्रदायिक सदभाव बढ़ाने वाले कार्यक्रम प्रसारित करने का आग्रह कीजिए | (5)

    अथवा

    ‘सामाजिक सेवा कार्यक्रम के अंतर्गत किसी गाँव में सफ़ाई अभियान के अनुभवों | का उल्लेख करते हुए अपने मित्र को पत्र लिखिए |

  3. आपके मोहल्ले के पार्क में लड़कियों को आत्म रक्षा के गुण सिखाने हेतु एक कैंप | लगाया जा रहा है, इसके लिए एक विज्ञापन लगभग 20-25 शब्दों में तैयार कीजिए | (5)

    अथवा

    आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित घर किराए पर देने के लिए विज्ञापन लगभग 20-25 शब्दों में तैयार कीजिए |

These are questions only. To view and download complete question paper with solution install myCBSEguide App from google play store or login to our student dashboard.

Download myCBSEguide App

Sample Papers for Class 10 2019

To download sample paper for class 10 Science, Mathematics, Social Science, English Communicative, English Language and literature, Hindi Course A  and Hindi course do check myCBSEguide app or website. myCBSEguide provides sample papers with solution, test papers for chapter-wise practice, NCERT solutions, NCERT Exemplar solutions, quick revision notes for ready reference, CBSE guess papers and CBSE important question papers. Sample Paper all are made available through the best app for CBSE students and myCBSEguide website.




Test Generator

Test Generator

Create Tests with your Name & Logo

Try it Now (Free)

Leave a Comment